Skip to main content

meri-ek-choti-si-aakhri-khwais

meri ek choti si aakhri khwaish – iss duniya se judaa hone pe... Mujhe jala dena ya dafna dena, mere jaane par aasoon mat bahana.... maru to 1 ghoot beer pila dena, yaad mein meri ye baat yaad rakhna... dosti k naaam pe mein tajmahal nahi chahta dosto, . . . .. . . .. meri kabr par girls hostel bana dena!! :xD :P

Popular posts from this blog

"नंगी" तलवार हो या "नंगी" औरत दोनों से बचना चाहिए

"नंगी" तलवार हो या "नंगी" औरत दोनों से बचना चाहिए🗡👸🏻 क्योंकि "नंगी" तलवार आपका खून निकाल सकती है🗡 और "नंगी" औरत आपका पानी 💦निकाल सकती है..!! 😂😂😝🙊🙊😝😂😂

बचपन में मैं भी जब कोई गलती कर

बचपन में मैं भी जब कोई गलती कर देता था और पिटने के आसार नजर आने लगते थे तो तुरंत किताब खोल के बैठ जाता था! वो बात अलग है कि कुटाई फिर भी होती थी। - जामिया लाइब्रेरी कांड

KhattaCorp is back!

Yes guys the group is back again at: https://www.facebook.com/groups/189378692966625/?ref=share 14 feb 2021 Come join and invite your friends too.